दिनांक : 05/27/2015संविदा आधार पर परामर्शदाताओं का पैनल तैयार करने हेतु उम्‍मीदवार

परामर्शदाताओं का पैनल तैयार करने हेतु भारतीय रिज़र्व बैंक वित्‍तीय बाजार के ऐसे प्रोफेशनल, जिनके पास वित्‍तीय बाजारों में संचालन और /या अनुसंधान का उत्‍कृष्‍ट ट्रैक रिकार्ड हो, से प्रस्‍ताव आमंत्रित करता है। पैनल में शामिल किए गए परामर्शदाताओं से निम्‍नलिखित क्षेत्रों में कार्य अपेक्षित हैं:

  1. मुद्रा फ्यूचर्स बाजार/ब्‍याज दर फ्यूचर्स बाजार और विदेशों में संचालित गैर सुपुर्दगी बाजार के बीच आंतरिक संपर्क का अध्‍ययन।

  2. टर्म मनी बाजार का विकास।

  3. कॉर्पोरेट बॉन्‍ड बाजार का विकास।

  4. सरकारी प्रतिभूतियों के लिए एक्‍टिव सेकन्‍ड्री बाजार का विकास।

  5. ब्‍याज दर स्‍वैप बाजारों में सहभागिता को बढ़ाना।

  6. मौदिक्र/वित्‍तीय अनुसंधान के फील्‍ड में कोई अन्‍य क्षेत्र।

2. इस पद हेतु उम्‍मीदवारों से अपेक्षित है कि उनके पास वित्‍तीय बाजारों के क्षेत्रों में उत्‍कृष्‍ट विशेषज्ञता और बाजार संचालन और/या बाजार अनुसंधान में प्रत्‍यक्ष रूप से शामिल होने का न्‍यूनतम 10 वर्ष का अनुभव होना चाहिए। उम्‍मीदवारों के पास अपेक्षित संबंधित कार्य क्षेत्र में पीएचडी सहित उत्‍कृष्‍ट शैक्षणिक अर्हताएं होनी चाहिए।

3. परामर्शदाताओं को एक वर्ष के लिए नियुक्‍त किया जाएगा , जिसे एक वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है , जो उनकी उपलब्धियों और समग्र निष्‍पादन पर निर्भर होगा। इस कन्‍सलटेन्‍सी अवधि के दौरान परामर्शदाता किसी संस्‍थान /संगठन के साथ किसी भी क्षमता में नहीं जुड़ेंगे, जिनके साथ हितों के संघर्ष की संभावना हो ।

4. इच्‍छुक उम्‍मीदवार संक्षिप्‍त कार्य-प्रस्‍ताव सहित अपने सीवी इस विज्ञापन के प्रकाशित होने के 15 दिन के अंदर, मुख्‍य महाप्रबंधक, मानव संसाधन प्रबंध विभाग, केन्‍द्रीय कार्यालय, 21 वीं मंजिल, भारतीय रिज़र्व बैंक, केन्‍द्रीय कार्यालय भवन, शहीद भगत सिंह मार्ग, फोर्ट, मुंबई-400 001 को भिजवाएं। तथापि, भारतीय रिज़र्व बैंक इच्‍छुक उम्‍मीदवारों से समयानुसार प्रस्‍ताव प्राप्‍त करता रहेगा और समुचित नियुक्ति हेतु इन प्रस्‍तावों की आवधिक समीक्षा भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा की जाएगी।

5. आवेदन पत्र पर स्पष्ट अक्षरों में “संदर्भ आवेदन - संविदा आधार पर परामर्शदाताओं का पैनल” लिखा होना चाहिए।


बैंक में संविदा आधार पर परामर्शदाता पद
की नियुक्ति के लिए मुख्य नियम और शर्त

1. अवधि : संविदा आधार पर नियुक्ति की आरंभिक अवधि कार्यग्रहण करने की तारीख से एक साल के लिए होगी। प्रगति और समग्र कार्यनिष्‍पादन के आधार पर संविदा अवधि को एक और वर्ष के लिए बढ़ाया जा सकता है। यह संविदा किसी भी पक्ष की तरफ से एक माह का नोटिस देते हुए समाप्‍त की जा सकेगी।

2. कार्य की जिम्मेदारियां : परामर्शदाता निम्‍नलिखित कार्यक्षेत्र का कार्य संभालेगें :

  1. मुद्रा फ्यूचर्स बाजार/ब्‍याज दर फ्यूचर्स बाजार और विदेशों में संचालित गैर सुपुर्दगी बाजार के बीच आंतरिक संपर्क का अध्‍ययन।

  2. टर्म मनी बाजार का विकास।

  3. कॉर्पोरेट बॉन्‍ड बाजार का विकास।

  4. सरकारी प्रतिभूतियों के लिए एक्‍टिव सेकन्‍ड्री बाजार का विकास।

  5. ब्‍याज दर स्‍वैप बाजारों में सहभागिता को बढ़ाना।

  6. मौदिक्र/वित्‍तीय अनुसंधान के फील्‍ड में कोई अन्‍य क्षेत्र।

इस कन्‍सलटेन्‍सी अवधि के दौरान परामर्शदाता किसी संस्‍थान /संगठन के साथ किसी भी क्षमता में नहीं जुड़ेंगे, जिनके साथ हितों के संघर्ष की संभावना हो।

3. पारिश्रमिक : परामर्शदाता को प्रतिमाह 2,40,000/- (केवल दो लाख चालीस हजार रुपये) का समेकित पारिश्रमिक दिया जाएगा, इसमें टैक्‍स कटौती भी होगी।

4. छुट्टी की सुविधा:

i. वे संविदा अवधि के दौरान यथानुपात आधार पर प्रतिवर्ष 30 दिनों की छुट्टी के लिए पात्र होंगे/होंगी।

ii. उपरयुक्त अवधि से अधिक की अनुपस्थिति को बिना वेतन की छुट्टी माना जाएगा।

5. आवासीय सुविधा: संविदा की अवधि के दौरान भारतीय रिज़र्व बैंक कोई आवासीय सुविधा मुहैया नहीं कराएगा।

6. अनुशासन का पालन और अपील: संविदा नियुक्ति की अवधि के दौरान वे भारतीय रिज़र्व बैंक (स्टाफ) विनियमावली, 1948 के अध्याय IV के अधीन नियंत्रित होंगे/होंगी।

7. भविष्य निधि, ग्रेच्युटी, पेंशन आदि: संविदा अवधि के दौरान वे भविष्य निधि/पेंशन या अन्य अधिवर्षिता लाभ जैसे ग्रेच्युटी आदि के लिए पात्र नहीं होंगे/होंगी।

Server 214
शीर्ष