दिनांक : 11/17/2017कार्यालय परिचारक पद के लिए भर्ती

भारतीय रिज़र्व बैंक अपने विभिन्न कार्यालयों में “कार्यालय परिचारक” के 526 पदों के लिए पात्र उम्‍मीदवारों से आवेदन आमंत्रित करता है। इस पद के लिए चयन देशव्यापी प्रतियोगिता (ऑनलाईन परीक्षा) और उसके बाद भाषा प्रवीणता परीक्षा (क्षेत्रीय भाषा) के माध्यम से अनुबंध I के अनुसार होगा। कृपया नोट करें कि उक्त विज्ञापन पर संशोधन, यदि कोई होगा, केवल बैंक की वेबसाइट www.rbi.org.in पर प्रकाशित किया जाएगा।

विज्ञापन का संपूर्ण ब्‍यौरा बैंक की वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है और एम्‍प्‍लायमेंट न्‍यूज/ रोजगार समाचार में भी प्रकाशित किया जा रहा है।

आवेदन बैंक की वेबसाइट www.rbi.org.in के माध्यम से केवल ऑनलाइन स्वीकार किए जाएंगे। आवेदन प्रस्तुत करने के लिए कोई और तरीका उपलब्ध नहीं है।

महत्वपूर्ण तिथियाँ

वेबसाइट लिंक खुले रहने की अवधि 17.11.2017 से 07.12.2017
परीक्षा शुल्क का भुगतान (ऑनलाइन) 17.11.2017 से 07.12.2017
ऑनलाइन परीक्षा की तारीखें (अनंतिम) अनंतिम रूप से दिसंबर 2017/जनवरी 2018 माह में। ऑनलाइन परीक्षा सप्ताह के किसी भी दिन आयोजित की जा सकती है। भारतीय रिज़र्व बैंक परीक्षा की तारीखों और परीक्षा के दिनों की संख्या में परिवर्तन का अधिकार सुरक्षित रखता है।

भारतीय रिज़र्व बैंक

कार्यालय परिचारक पद के लिए भर्ती

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआर्इ) में कार्यालय परिचारक के पद के लिए पात्र भारतीय नागरिकों से आवेदन आमंत्रित हैं।

ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरने के लिए उम्‍मीदवार नीचे बताए गए लिंक पर क्लिक करें।

“Recruitment for the post of Office Attendant”

1. आवेदन फॉर्म

आवेदन करने से पहले उम्‍मीदवारों को यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि वे इस पद के लिए निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं। उम्‍मीदवारों से अनुरोध है कि बैंक की वेबसाइट www.rbi.org.in पर ऑनलाइन आवेदन करें।

हेल्‍पलाइन : फॉर्म भरने में, फीस के भुगतान या कॉल लैटर प्राप्‍त करने में कोई समस्‍या हो तो उम्मीदवार http://cgrs.ibps.in/ पर शिकायत निवारण कक्ष से सम्‍पर्क करें। ईमेल के सब्जेक्ट बॉक्स में ‘RBI Office Attendant Test’ लिखना न भूलें।


कार्यालय रिक्तियां पीडब्‍ल्‍यूडी# एक्‍स#
अजा अजजा अपिव सामान्‍य कुल वीआई एचआई ओएच एक्‍स-1 एक्‍स-2
अहमदाबाद 0 6 6 27 39 1 0 0 2 8
बंगलुरू 0 7 19 32 58 1 0 1 3 12
भोपाल 0 10 3 32 45 1 1 0 2 9
चंडीगढ़ और शिमला $ 0 0 14 33 47 0 1 1 2 9
चेन्नै 0 0 5 5 10 1 0 0 0 2
गुवाहाटी 0 3 2 5 10 0 0 0 0 2
हैदराबाद 4 2 7 14 27 0 0 1 1 5
जम्‍मू 0 0 9 10 19 0 0 1 1 4
लखनऊ 0 0 6 7 13 1 0 0 1 3
कोलकाता 3 0 2 5 10 0 1 0 0 2
मुम्‍बई, नवी मुम्‍बई और पणजी & 0 23 0 142 165 2 2 3 7 33
नागपुर 0 2 2 5 9 0 0 0 0 2
नई दिल्‍ली 0 0 13 14 27 0 1 1 1 5
तिरुवनंतपुरम 0 0 12 35 47 1 0 0 2 9
जोड़ 7 53 100 366 526 8 6 8 22 105
$ चंडीगढ़ - 42 और शिमला -5
& मुंबई - 144, नवी मुंबई (बेलापुर) - 15 और पणजी -6

संक्षेपाक्षर इस प्रकार हैं: अजा – अनुसूचित जाति, अजजा – अनुसूचित जनजाति, अपिव – अन्‍य पिछड़ा वर्ग, सामा – सामान्‍य, अर्थात अनारक्षित, पीडब्‍ल्‍यूडी– निःशक्त व्‍यक्ति, वीआई– दृष्टि बाधित, एचआई श्रवण बाधित, ओएच– अस्थि विकलांगता, एक्‍स– भूतपूर्व सैनिक, एक्‍स-1– विकलांग भूतपूर्व सैनिक/ सैन्‍य कार्रवाई में मृत सैनिकों के आश्रित, एक्‍स-2– भूतपूर्व सैनिक (सामान्‍य)

इस पद के लिए निःशक्त व्‍यक्ति केवल निम्नलिखित श्रेणियों में आवेदन करने के लिए पात्र हैं:

ओएच उम्मीदवार : ओए – एक भुजा प्रभावित (दाहिनी या बांई), ओएल – एक टाँग प्रभावित (दाहिनी या बांईं), ओएलए- एक भुजा प्रभावित और एक टाँग प्रभावित, वीआई उम्मीदवार : बी – दृष्टिहीन, एलवी – कम दृष्टि, एचआई उम्मीदवार : एचएच –श्रवण बाधित

# निःशक्त व्‍यक्तियों/भूतपूर्व सैनिकों के लिए क्षैतिज आरक्षण है और विभिन्‍न वर्गों की रिक्तियों में शामिल है। जिन कार्यालयों में निःशक्त व्‍यक्तियों के लिए आरक्षित रिक्तियां नहीं है उनमें आवेदन करने वाले निःशक्त उम्‍मीदवारों को उच्‍चतम आयु सीमा में निःशक्त उम्‍मीदवारों हेतु निर्धारित रियायत दी जाएगी।

अपिव से संबन्धित उम्मीदवार जो ‘क्रीमी लेयर’ में आते हैं वे अपिव का आरक्षण के हकदार नहीं है। वे अपनी श्रेणी ‘सामान्य’ के रूप में दर्शाएँ।

परिणामों को अंतिम रूप देते समय सरकार के विद्यमान दिशानिर्देशों के तहत विभिन्‍न वर्गों हेतु आरक्षण दिया जाएगा।

आवश्यकता के अनुसार रिक्तियों की संख्या बढ़ाने / घटाने का अधिकार बैंक अपने पास सुरक्षित रखता है।

2. परिभाषा :

भूतपूर्व सैनिक:

केवल उन्‍हीं उम्‍मीदवारों को भूतपूर्व सैनिक माना जाएगा जो भारत सरकार, गृह मंत्रालय, कार्मिक और प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा 27 अक्‍तूबर 1986 को जारी अधिसूचना संख्‍या 36034/5/85/Estt(SCT), समय-समय पर यथासंशोधित, में निर्धारित संशोधित परिभाषा की शर्तों को पूरा करते हैं।

विकलांग भूतपूर्व सैनिक: ऐसे सैनिक जो संघ के सशस्‍त्र बलों में सेवा के दौरान शत्रु अथवा उपद्रवग्रस्‍त क्षेत्रों में सैन्‍य कार्रवाई के दौरान विकलांग हुए हों– उन्‍हें विकलांग भूतपूर्व सैनिक माना जाएगा।

सैन्‍य कार्रवाई में मृत सैनिकों के आश्रित: निम्‍नलिखित सैन्‍य कार्रवाई में मारे गए सैनिकों के लिए माना जाएगा कि वे सैन्‍य सेवा के दौरान कार्रवाई में मारे गए- (क) युद्ध, (ख) युद्ध जैसी सैन्‍य कार्रवाई या पाकिस्‍तान या किसी अन्‍य देश के साथ युद्ध विराम रेखा पर झड़प (ग) नागालैंड, मिज़ोरम आदि में विद्रोही हालात से निपटने में सशस्‍त्र विरोधियों से लड़ते हुए (घ) विदेशों में शांति सेना मिशन में सेवा के दौरान (ड.) बारूदी सुरंगें बिछाने और शत्रुओं की बारूदी सुरंगों को हटाने सहित सैन्‍य कार्रवाई पूरी होने के एक माह पहले और तीन माह बाद की अवधि के बीच बारूदी सुरंगों को हटाने के साथ-साथ कार्रवाई के दौरान (च) वास्‍तविक सैन्‍य कार्रवाई या सरकार द्वारा निर्दिष्‍ट अवधि के दौरान शीत-दंश (छ) अर्ध-सैन्‍य बलों के भड़के हुए कार्मिकों से निपटने और (ज) श्रीलंका में भारतीय शांति सेना के मारे गए कार्मिक।

नोट :

1) ऐसे उम्‍मीदवार जो सैन्‍य बलों से सेवानिवृत्‍त/कार्यमुक्‍त हुए हैं या जिनकी एसपीई 30 नवम्बर 2018 को या उससे पहले पूरी होनी संभावित है, केवल वे ही इस भर्ती के लिए आवेदन करने के पात्र हैं। उनसे यह भी अपेक्षित होगा कि रिज़र्व बैंक में कार्य-ग्रहण करते समय कार्यमुक्ति का पत्र और स्‍व-घोषणा पत्र प्रस्‍तुत करें कि वह भारत सरकार के नियमों के अनुसार भूतपूर्व सैनिक को प्राप्‍य लाभों के पात्र हैं। ऐसे उम्‍मीदवार जो अपने नियोजन की आरंभिक अवधि पहले ही पूरी कर चुके हों और विस्‍तारित नियोजन के तहत सेवा में हों उन्‍हें उस आशय का प्रमाणपत्र प्रस्‍तुत करना होगा। ऊपर बताए गए उम्‍मीदवारों का यदि चयन हो जाता है तो उन्‍हें 31 दिसम्बर 2018 को या उससे पहले कार्यमुक्‍त होकर रिज़र्व बैंक में कार्यभार ग्रहण करना होगा। ऐसे सभी उम्‍मीदवारों द्वारा प्रस्‍तुत किए जाने वाले प्रमाणपत्रों के प्रारूप अनुबंध-II में दिए गए हैं और ये प्रमाणपत्र एलपीटी के समय अनिवार्य रूप से प्रस्‍तुत करने होंगे।

2) तारीख 15-11-1986 से टेरिटोरियल आर्मी कार्मिकों को भूतपूर्व सैनिक माना गया है।

3) यदि कोई भूतपूर्व सैनिक पुन: रोजगार प्राप्‍त करने के लिए मिलने वाले लाभों को प्राप्‍त करने के बाद सिविल साइड में सरकारी नौकरी प्राप्‍त कर चुका है, तो सरकारी सेवा में पुन: रोजगार के प्रयोजन से उसका भूतपूर्व सैनिक दर्जा समाप्‍त माना जाएगा।

4) सैन्‍य कार्रवाई में मृत-सैनिकों के आश्रित आरक्षण के पात्र होंगे। विकलांग भूतपूर्व सैनिकों और सैन्‍य कार्रवाई में मृत-सैनिकों के आश्रितों, दोनों के लिए कुल रिक्तियों में 4.5 प्रतिशत रिक्तियां आरक्षित हैं। नियुक्ति के मामले में पहली वरीयता विकलांग भूतपूर्व सैनिकों को दी जाएगी और दूसरी वरीयता सैन्‍य कार्रवाई में मारे गए रक्षा कर्मी या अत्‍यधिक विकलांग हो चुके (रक्षा सेवाओं में कार्य के दौरान 50 प्रतिशत से ज्‍यादा विकलांगता होने) सैनिकों के परिवारों में से दो आश्रितों को दी जाएगी। इस रियायत के प्रयोजन से सैनिक की विधवा, पुत्र, पुत्री या सैनिक के परिवार की मदद को सहमत उसके किसी निकट संबंधी को परिवार का सदस्‍य माना जाएगा। भूतपूर्व सैनिक/विकलांग हुए भूतपूर्व सैनिक को उच्‍चतम आयुसीमा और शैक्षणिक अर्हताओं में मिलने वाली रियायत सैन्‍य कार्रवाई में मृत सैनिकों और विकलांग हो चुके सैनिकों के आश्रितों को नहीं दी जाएगी।

5) केंद्र सरकार के अधीन पुनः रोजगार प्राप्त भूतपूर्व सैनिकों के लिए लागू निम्नलिखित नियम ऑनलाइन परीक्षा में शामिल होने वाले भूतपूर्व सैनिक उम्मीदवारों के लिए लागू होंगे:

जिन भूतपूर्व सैनिक उम्मीदवारों ने केंद्र सरकार के अधीन समूह ‘ग’ और ‘घ’ में पहले ही रोजगार प्राप्त कर लिया है उन्हें केंद्र सरकार के अधीन उच्चतर ग्रेड या कैडर या समूह ‘ग’/‘घ’ में रोजगार प्राप्त करने के लिए भूतपूर्व सैनिकों के लिए निर्धारित आयु संबंधी छूट का लाभ दिया जाएगा। तथापि ऐसे उम्मीदवार केंद्र सरकार की सेवा में भूतपूर्व सैनिकों के लिए दूसरी बार आरक्षण के लाभ के लिए पात्र नहीं होंगे।

3. निःशक्त (पीडब्‍ल्‍यूडी) व्यक्तियों के लिए आरक्षण:

क. निःशक्त व्‍यक्ति :

(i) अस्थि-विकलांगता वाले व्‍यक्ति वे हैं जिन्‍हें शारीरिक-दोष या रचना के कारण अस्थियों, पेशियों और शरीर के जोड़ों के सामान्‍य संचालन में बाधा आती है। इन मामलों में अक्षमता की डिग्री न्‍यूनतम 40 प्रतिशत होनी चाहिए।

(ii) श्रवण बाधित व्‍यक्ति वे हैं जिनमें सहज जीवन के प्रयोजन के लिए जरूरी श्रवण क्षमता नहीं है। ये लोग बहुत ऊँची ध्‍वनियां भी सुन, समझ नहीं पातेहैं। इस वर्ग में वे लोग आएंगे जिनके बेहतर कान में 60 डेसिबल से अधिक की श्रवण क्षमता नष्‍ट हो चुकी है (गंभीर अक्षमता) या दोनो कानों से सुनाई नहीं देता है।

(iii) दृष्टि से अक्षम उम्मीदवार के रूप में विचार किए जाने के लिए उम्‍मीदवार में निम्‍नलिखित में से कोई एक अक्षमता होनी चाहिए:

(क) बिलकुल दिखाई नहीं देना।

(ख) बेहतर आँख में करेक्टिंग लेन्‍स लगाकर दृष्टि क्षमता 6/60 या 20/200 (स्‍नेलेन) से अधिक नहीं हो।

(ग) दृष्टि का दायरा सम्मुख में 20 डिग्री या इससे खराब की सीमा में आता हो।

(iv) निःशक्त उम्मीदवारों के पास इस आशय का नवीनतम प्रमाणपत्र होना चाहिए जो भारत सरकार/ राज्‍य सरकार के प्राधिकृतविभाग/अस्‍पताल द्वारा जारी किया गया हो।

(v) निम्‍नलिखित निःशक्त उम्‍मीदवार आवेदन कर सकते हैं –

ओए – एक भुजा प्रभावित (दाहिनी या बांई); ओएल – एक टाँग प्रभावित (दाहिनी या बांईं); ओएलए- एक भुजा प्रभावित और एक टाँग प्रभावित; एचएच – बधिरता ; बी – दृष्टिहीन; एलवी – कम दृष्टि।

नोट: कुल अधिसूचित रिक्तियों की संख्या के भीतर ही नि:शक्तता के तीनों वर्गों में से किसी भी वर्ग से संबंधित निःशक्त उम्मीदवारों (जो उपरोल्लिखित स्पष्टीकरण के अनुसार पद के लिए पात्र हैं।) पर चयन के लिए विचार किया जाएगा बशर्ते वे योग्य हों, यह चयन इस विज्ञापन में निःशक्त व्यक्तियों हेतु अधिसूचित / अधिसूचित नहीं की गई रिक्तियों से अधिक के लिए किया जाएगा। निःशक्त उम्मीदवार किसी भी श्रेणी के हो सकते हैं (सामान्य/अजा/अजजा/अपिव)। निःशक्त उम्मीदवारों के लिए आरक्षण क्षैतिज है और यह सम्पूर्ण रिक्तियों मे शामिल है।

ख. निःशक्त व्यक्तियों द्वारा लेखन सहायक के प्रयोग हेतु दिशानिर्देश

दृष्टिबाधित उम्मीदवार और ऐसे उम्‍मीदवार जिनकी लेखन गती किसी भी कारण से स्थायी रूप से प्रभावित है वे ऑनलाइन परीक्षा के दौरान अपने खर्चे पर (i) और (ii) के रूप में सीमा के अधीन लेखन सहायक का प्रयोग कर सकते हैं। ऐसे सभी मामलों में निम्नलिखित नियम लागू होंगे :

  • उम्‍मीदवार को अपने लिए लेखन-सहायक की व्‍यवस्‍था स्वयं के खर्चे पर करनी होगी।

  • ऐसा लेखन-सहायक किसी भी एकेडेमिक डिसीप्लिन से हो सकता है।

  • लेखन सहायक की सहायता लेने वाले उम्‍मीदवार और लेखन सहायक, दोनों को परीक्षा के समय कॉल लेटर के साथ समुचित वचनपत्र देना होगा। वचनपत्र से यह पुष्टि होनी चाहिए कि लेखन सहायक उपर्युक्त उल्लिखित सभी मानदंड पूरा करता है। इसके अलावा यदि बाद में ज्ञात होता है कि वह निर्धारित मानदंडों में से कोई भी मानदंड पूरा नहीं करता है या कुछ वास्‍तविक तथ्‍य छिपाए गए हैं तो आवेदक की उम्‍मीदवारी निरस्‍त हो जाएगी, ऑनलाइन परीक्षा का परिणाम चाहे कुछ भी हो। वचनपत्र का प्रोफोर्मा भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

  • लेखन सहायक का उपयोग करने वाले उम्‍मीदवारों को परीक्षा के प्रत्‍येक घंटे के लिए 20 मिनट प्रतिपूरक के तौर पर दिए जाएंगे।

  • एक से अधिक उम्‍मीदवार एक ही लेखन सहायक की सहायता नहीं ले सकते हैं। उम्‍मीदवार जिस लेखन सहायक की सहायता लेगा वह लेखन सहायक परीक्षा का उम्‍मीदवार नहीं होना चाहिए। यदि भर्ती की प्रक्रिया के दौरान किसी स्‍तर पर इसका उल्‍लंघन पाया गया तो उम्‍मीदवार और लेखन सहायक, दोनों की उम्‍मीदवारी रद्द कर दी जाएगी। पात्र उम्‍मीदवार जो परीक्षा के समय लेखन सहायक की सहायता लेना चाहते हैं, वे ऑनलाइन आवेदन फार्म में इसका अनिवार्य रूप से और सावधानी से उल्‍लेख करें। इसके बाद किसी अनुरोध को स्‍वीकार नहीं किया

ग. उम्‍मीदवारों के लिए दिशानिर्देश

(i) लोकोमोटर अक्षमता और प्रमस्तिष्‍कीय पक्षाघात

लोकोमोटर अक्षमता/प्रमस्तिष्‍कीय पक्षाघात से प्रभावित उम्‍मीदवार जिनकी लेखन गति धीमी है (न्‍यूनतम 40% अक्षमता) उन्‍हें भी परीक्षा के प्रत्‍येक घंटे के लिए 20 मिनट का प्रतिपूरक समय दिया जाएगा।.

(ii) दृष्टि बाधित उम्‍मीदवार

  • दृष्टि बाधित उम्‍मीदवार (जो 40% से कम अक्षमता वाले हैं) वे परीक्षा की विषय-वस्‍तु को मैग्‍निफाइड फॉन्‍ट में देखने का विकल्‍प ले सकते हैं। ऐसे सभी उम्‍मीदवार परीक्षा के प्रत्‍येक घंटे के लिए 20 मिनट के प्रतिपूरक समय के पात्र होंगे।

  • दृष्टि बाधित उम्‍मीदवार जो परीक्षा के लिए लेखन सहायक की सहायता लेते हैं उन्‍हें परीक्षा की विषय-वस्‍तु को मैग्‍निफाइड फॉन्‍ट में देखने कि सुविधा नहीं दी जाएगी।

  • लेखन हेतु सहायक के प्रयोग की अनुमति भारत सरकार, सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्रालय, निशक्‍तता संबंधी कार्य विभाग, नई दिल्‍ली द्वारा 26 फरवरी 2013 को जारी कार्यालय ज्ञापन एफ सं.16-110/2003-DDIII द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार दी जाएगी।

उपर्युक्‍त दिशानिर्देश समय-समय पर भारत सरकार के दिशानिर्देशों/स्‍पष्‍टीकरणों, यदि कोई हो, के अनुसार परिवर्तन के तहत हैं।

4. पात्रता मानदंड :

क. आयु (01/11/2017 को):

आयु 18 और 25 वर्ष के बीच हो, अर्थात केवल वही उम्मीदवार आवेदन करने के पात्र होंगे जिनका जन्‍म 02/11/1992 से पहले और 01/11/1999 के बाद (दोनों दिन शामिल हैं) नहीं हुआ हो।

उच्‍चतर आयु सीमा में रियायत :

उच्‍चतर आयु सीमा में निम्‍नानुसार रियायत दी जाएगी :

क्रमांक वर्ग उच्‍चतर आयु सीमा में छूट
(i) अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति (अजा /अजजा) 5 वर्ष अर्थात 30 वर्ष तक
(ii) अन्‍य पिछड़ा वर्ग (अपिव) 3 वर्ष अर्थात 28 वर्ष तक
(iii) निःशक्त व्‍यक्ति (PWD) 10 वर्ष (सामान्‍य), 13 वर्ष (अपिव), 15 वर्ष (अजा /अजजा)
(iv) भूतपूर्व सैनिक सशस्‍त्र सेनाओं में की गई कुल सेवा की अवधि में तीन साल जोड़ते हुए, लेकिन अधिकतम आयु 50 वर्ष से अधिक नहीं।
(v) विधवाएं/तलाकशुदा महिलाएं/कानूनी तौर पर अलग रह रही महिलाएं जिन्‍होंने फिर से विवाह नहीं किया है 10 वर्ष
(vi) उम्‍मीदवार जो सामान्‍यत: 1 जनवरी 1980 से 31 दिसम्‍बर 1989 के बीच जम्‍मू व कश्‍मीर राज्‍य के कश्‍मीर मंडल के निवासी रहे हों 5 वर्ष
(vii) उम्मीदवार जो भारतीय रिज़र्व बैंक का कार्य अनुभव रखते हों ऐसे अनुभव की कुल अवधि, अधिकतम तीन वर्ष तक

नोट : उक्‍त प्रकारों या इनके साथ कोई और प्रकार मिलाते हुए आयु-सीमा में संचयी छूट नहीं दी जाएगी।

आयु में रियायत चाहने वाले उम्‍मीदवारों को एलपीटी के समय आवश्‍यक प्रमाणपत्रों की प्रतिलिपियां प्रस्तुत करनी होंगी।

जाति संबंधी मानदंड :

  1. अजा/अजजा/अपिव के रूप में आरक्षण मांगने वाले उम्मीदवारों को केवल निर्धारित प्रपत्र में ही भारत सरकार के तहत पदों पर नियुक्ति के लिए नामांकित प्राधिकारी द्वारा जारी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा जिसमें उम्मीदवार की जाति, अधिनियम/आदेश जिसके तहत जाति को अजा/अजजा/अपिव के रूप में मान्यता दी गयी है और गाँव/कस्बा जिसका उम्मीदवार सामान्य रूप से निवासी है, का स्पष्ट रूप से उल्लेख होना चाहिए। उन्हें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके जाति/समुदाय प्रमाणपत्र में उनकी जाति/समुदाय का नाम और उसकी वर्तनी ठीक वैसी ही हो जैसी केंद्र सरकार द्वारा समय-समय पर अधिसूचित की गयी है (केंद्रीय सूची में अपिव जातियों के रूप में भारत सरकार द्वारा मान्यताप्राप्त अपिव श्रेणी की जातियों के सूची http://www.ncbc.nic.in साइट पर उपलब्ध है, अजजा श्रेणी के लिए प्रत्येक राज्य की जाति की सूची www.ncst.nic.in साइट पर उपलब्ध है अजा श्रेणी के लिए प्रत्येक राज्य की जाति की सूची http://www.socialjustice.nic.in साइट पर उपलब्ध है।) जाति प्रमाणपत्र में जाति के नाम में किसी अंतर की स्थिति में उसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। इसके अलावा अपिव प्रमाणपत्र में स्पष्ट रूप से यह उल्लेख होना चाहिए कि उम्मीदवार क्रीमी लेयर से संबन्धित नहीं है जैसा कि भारत सरकार द्वारा केंद्र सरकार के तहत पदों और सेवाओं हेतु आवेदन करने के लिए परिभाषित किया गया है।

  2. किसी उम्मीदवार के अपिव के दावे का निर्धारण उस राज्य (या राज्य के भाग) के संबंध में किया जाएगा जिससे उनके पिता मूल रूप से संबंध रखते हैं। जो उम्मीदवार एक राज्य (या राज्य के भाग) से दूसरे में अंतरित हुए हैं, उन्हें अपने पिता के मूल रूप से संबन्धित होने वाले राज्य के अपिव प्रमाणपत्र के आधार पर जारी अपिव प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।

  3. ऑनलाइन आवेदन में उम्मीदवार द्वारा पहले ही दर्शायी गयी समुदाय स्थिति में परिवर्तन की अनुमति नहीं होगी। आयु में रियायत चाहने वाले उम्‍मीदवारों को दस्तावेज़ सत्यापन के समय आवश्‍यक प्रमाणपत्रों की प्रतिलिपियां प्रस्तुत करनी होंगी।

ख. शैक्षणिक योग्‍यता (01/11/2017 को):

i) उम्मीदवार जिस भर्तीकर्ता कार्यालय के लिए आवेदन कर रहा है उस कार्यालय के क्षेत्रीय न्यायाधिकार क्षेत्र के राज्य/संघ क्षेत्र से उम्मीदवार ने 10वीं कक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए (अनुबंध III देखें।)। यह पात्रता मान्यताप्राप्त बोर्ड से होनी चाहिए।

ii) उपरोक्त के अलावा, उम्मीदवार जिस भर्तीकर्ता कार्यालय के लिए आवेदन कर रहा है उस कार्यालय के क्षेत्रीय न्यायाधिकार क्षेत्र के राज्य/संघ क्षेत्र का वह मूल निवासी (डॉमीसाइल) होना चाहिए (अनुबंध III देखें।)।

iii) उम्मीदवार 01.11.2017 को स्नतक स्तर से कम अर्हताप्राप्त होना चाहिए। स्नातक एवं उच्चतर अर्हता प्राप्त उम्मीदवार आवेदन के पात्र नहीं हैं।

iv) उम्मीदवार के मुल निवास स्टेटस (डॉमीसाइल) के समर्थन हेतु किसी भी दस्तावेज की मांग का बैंक को अधिकार होगा।

v) सेवानीवृत्त सैनिक श्रेणी के उम्मीदवारों ने कम से कम 10वीं कक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए और कम से कम 15 वर्ष रक्षा सेवा में व्यतीत किए होने चाहिए, बशर्ते कि उन्होंने सशस्त्र सेना से बाहर स्नातक न किया हो।

vi) भर्तीकर्ता कार्यालय के लिए आवेदन कर रहा उम्मीदवार उस कार्यालय के राज्य/संघ क्षेत्र की भाषा में निपुण (अर्थात् भाषा को पढ़ने, बोलने, लिखने और समझने की क्षमता) होना चाहिए।

ग. चयन की स्‍कीम:

चयन ऑनलाइन परीक्षा (निम्नलिखित रूप के अनुसार) एवम भाषा प्रवीणता परीक्षा (एलपीटी) के आधार पर किया जाएगा।

ऑनलाइन टेस्ट:

क्रमांक परीक्षा का नाम (वस्‍तुनिष्‍ठ) प्रश्‍नों की संख्‍या अधिकतम अंक समग्र अवधि
1 तर्क शक्ति परीक्षण 30 30 90 मिनट
2 अंग्रेजी 30 30
3 सामान्‍य ज्ञान परीक्षण 30 30
4 अंकीय योग्‍यता का परीक्षण 30 30
कुल 120 120

i) सामान्य अंग्रेजी की परीक्षा को छोड़कर ऑनलाइन परीक्षा द्विभाषी होगी, अर्थात् अंग्रेजी और हिंदी।

ii) उम्मीदवारों को उपरोक्त टेस्ट के प्रत्येक विषय में न्यूनतम निर्धारित अंकों के साथ उत्तीर्ण होना होगा।

iii) उम्मीदवार को एलपीटी में शामिल होने के लिए ऑनलाइन परीक्षा में कट ऑफ अंक प्राप्‍त करने होंगे।

iv) एलपीटी योग्यता प्रकार की होगी। ऑन लाइन टेस्ट में अस्थायी रूप से चयनित अभ्यर्थियों को एक भाषा प्रवीणता परीक्षा (एलपीटी) से गुजरना होगा। एलपीटी संबंधित राज्य की आधिकारिक / स्थानीय भाषा में आयोजित किया जाएगा (अनुबंध- I)। आधिकारिक / स्थानीय भाषा में प्रवीण नहीं होने वाले उम्मीदवार को अयोग्य घोषित किया जाएगा।

v) परीक्षा के बारे में अन्‍य विस्‍तृत जानकारी सूचना के हैन्‍डआउट में दी जाएगी, उम्‍मीदवारों को रिज़र्व बैंक की वेबसाइट से परीक्षा हेतु कॉल लैटर डाउनलोड करने के साथ यह हैन्‍डआउट भी डाउनलोड करने के लिए उपलब्‍ध करा दिया जाएगा।

vi) ऑनलाइन परीक्षा में सफल उम्‍मीदवारों के रोल नंबर आरबीआई की वेबसाइट पर जनवरी/फ़रवरी 2018 में उपलब्ध करा दिये जाएंगे और उन्‍हें भाषा प्रवीणता परीक्षा (एलपीटी) के लिए बुलाया जाएगा। एलपीटी की तारीख आरबीआई की वेबसाइट पर दी जाएगी और एक संक्षिप्त सूचना बैंक की वेबसाइट पर प्रकाशित की जाएगी।

vii) एलपीटी अनिवार्य है. किसी भी उम्मीदवार को एलपीटी में उपस्थित होने से कोई भी छूट नहीं दी जाएगी। जो संबंधित कार्यालयों में आयोजित की जाएगी। अंतिम चयन ऑनलाइन परीक्षा में प्रदर्शन पर, एलपीटी में योग्यता, चिकित्सा फिटनेस, प्रमाणपत्रों का सत्यापन और बॉयोमीट्रिक डाटा, आदि में बैंक की संतुष्टि पर निर्भर होगा। इस संबंध में बैंक का निर्णय अंतिम होगा।

viii) बायोमैट्रिक डाटा – कैप्चर करना तथा सत्यापन करना

परीक्षा से पहले ऑनलाइन टेस्ट के दिन बायोमेट्रिक डाटा (अंगूठे का इंप्रेशन या अन्यथा) और उम्मीदवारों की तस्वीर लेने का निर्णय लिया गया है। यह परीक्षा के बाद और एलपीटी के दिन परीक्षा के दौरान सत्यापित किया जाएगा। इसके अलावा, इसे बाद में भी सत्यापित किया जाएगा।

बायोमैट्रिक डाटा की स्थिति (मिलान होता है या नहीं) संबंध में इसके सत्यापन प्राधिकारी का निर्णय अंतिम तथा उम्मीदवारों पर बाध्यकारी होगा।

उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे सुचारू प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए निम्नलिखित बिन्दुओं पर ध्यान दें:

- यदि उंगलियों पर लेप (स्टैम्प इंक / मेहंदी / रंग, आदि) लगा हो तो सुनिश्चित करें कि वह पूरी तरह से धो दिया गया हो ताकि परीक्षा से पहले वह लेप हट जाए।

- यदि उंगलियां गंदी अथवा मटमैली हों तो सुनिश्चित करें कि फिंगरप्रिंट (बायोमैट्रिक) के कैप्चर होने से पहले उन्हें धोकर सुखा लिया गया हो।

- सुनिश्चित करें कि दोनों हाथों की उंगलियां सूखी हों। यदि उंगलियां नम हों तो प्रत्येक उंगली को सुखाने के लिए पोछें।

- यदि कैप्चर की जाने वाली मुख्य उंगली (बायाअंगूठा) चोटग्रस्त / क्षतिग्रस्त है तो परीक्षा केंद्र पर संबंधित अधिकारी को तुरंत सूचित करें। ऐसे मामलों में अन्य उंगलियों, पांव की उंगलियों इत्यादि के छाप को कैप्चर किया जा सकता है।

घ. अजा/अजजा/अपिव/पीडब्‍ल्‍यूडी उम्‍मीदवारों के लिए परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण

भारत सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसरण में रिज़र्व बैंक सीमित संख्‍या में अजा/अजजा/अपिव/निःशक्त व्यक्तियों के लिए कुछ केन्‍द्रों पर परीक्षापूर्व प्रशिक्षण का आयोजन कर सकता है। उक्‍त वर्गों के जो उम्‍मीदवार यह प्रशिक्षण लेने के इच्‍छुक हैं वे जिस केन्‍द्र से आवेदन कर रहे हैं वहीं पर भारतीय रिज़र्व बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय से पत्राचार कर सकते हैं। प्रशिक्षण केन्‍द्रों की नीचे बताई गई सूची सूचनात्‍मक है। परीक्षापूर्व प्रशिक्षण का विकल्‍प चुनने वाले उम्‍मीदवारों को प्रशिक्षण के बारे में क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा सूचित किया जाएगा। परीक्षापूर्व प्रशिक्षण के लिए संबंधित केन्‍द्र पर परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण में शामिल होने के लिए उम्‍मीदवारों को यात्रा, बोर्डिंग, लाजिंग आदि के सभी खर्चे स्‍वयं करने होंगे। प्रतिक्रिया और प्रशासनिक व्‍यवहार्यता के आधार पर किसी भी परीक्षापूर्व प्रशिक्षण केन्‍द्र को रद्द करने और/या कुछ और केन्‍द्र जोड़ने और/या वैकल्पिक व्‍यवस्‍था का अधिकार सुरक्षित रहेगा। परीक्षापूर्व प्रशिक्षण हेतु आवेदनपत्र का प्रारूप भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट पर उपलब्‍ध है।

कार्यालयों के पते

भारतीय रिज़र्व बैंक,
आश्रम रोड,
अहमदाबाद– 380014.
भारतीय रिज़र्व बैंक,
10/3/08, नृपतुंग रोड,
बंगलुरू - 560 001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
होशंगाबाद रोड,
भोपाल-462011
भारतीय रिज़र्व बैंक,
सेन्‍ट्रलविस्‍टा, टेलिफोन भवन के समाने,
सेक्‍टर 17,
चंडीगढ़-160 017
भारतीय रिज़र्व बैंक,
फोर्ट ग्‍लेसि‍स, 16,
राजाजी सलै,
चेन्‍नै - 600 001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
स्‍टेशन रोड, पानबाजार,
गुवाहाटी – 781001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
6-1-56, सचिवालय रोड, सैफाबाद,
हैदराबाद - 500 004.
भारतीय रिज़र्व बैंक,
रेल हेड कॉम्‍प्‍लेक्‍स,
जम्‍मू - 180 012
भारतीय रिज़र्व बैंक,
15, नेताजी सुभाष रोड,
कोलकाता - 700 001.
भारतीय रिजर्व बैंक
भारतीय रिजर्व बैंक बिल्डिंग
8-9, विपिन खंड, गोमती नगर
लखनऊ - 226 010
भारतीय रिज़र्व बैंक,
मुख्‍य भवन, शहीद भगत सिंह मार्ग, फोर्ट,
मुम्‍बई-400 001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
मुख्‍य भवन, डॉ. राघवेन्‍द्र राव रोड,
सिविल लाइन,
नागपुर - 440 001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
6, संसद मार्ग,
नई दिल्‍ली - 110 001
भारतीय रिज़र्व बैंक,
बेकरी जंक्‍शन,
तिरुवनंतपुरम - 695 033
 

5. परीक्षा केन्‍द्र:

ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन भर्ती कार्यालय के अंतर्गत आने वाले राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों के विभिन्न केन्द्रों में किया जाएगा। परीक्षा केन्‍द्रों की अनंतिम सूची अनुबंध IV में दी गई है।

(i) तथापि प्रतिक्रिया, प्रशासनिक सुलभता इत्यादि के परिप्रेक्ष्य में परीक्षा केन्द्रों को रद्द तथा/अथवा अन्य केन्द्रों को जोड़ने का अधिकार भारतीय रिज़र्व बैंक के पास सुरक्षित रहेगा।

(ii) उम्मीदवारों को यथासंभव उनकी पसंद का केन्द्र ही आबंटित किया जाएगा। तथापि, भारतीय रिज़र्व बैंक के पास यह अधिकार सुरक्षित रहेगा कि वह किसी उम्मीदवार को उसके द्वारा चयनित केन्द्र के अलावा कोई अन्य केन्द्र आबंटित करे तथा किसी उम्मीदवार को उस राज्य/संघ शासित प्रदेश से बाहर कोई परीक्षा केन्द्र आबंटित करे जहां की रिक्ति के लिए उसने आवेदन किया हो।

(iii) उम्मीदवार परीक्षा केन्द्र पर अपने जोखिम तथा खर्चे पर ऑनलाइन परीक्षा साथ ही साथ एलपीटी के लिए उपस्थित हों और भारतीय रिज़र्व बैंक किसी भी प्रकार के हादसे अथवा हानि इत्यादि के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

(iv) परीक्षा केन्‍द्र बदलने के अनुरोध पर विचार नहीं किया जाएगा।

(v) एलपीटी के लिए केंद्र सीमित होंगे और यह परीक्षा आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों में आयोजित की जा सकती है।

6. सेवा की शर्तें / कैरियर संभावनाएं :

(i) वेतनमान:

चयनित उम्‍मीदवारों को 10940-380 (4)-12460- 440 (3) -13780-520(3)- 15340- 690 (2)-16720-860(4) – 20160 – 1180 (3)- 23700 (20 वर्ष) के वेतनमान में आरंभ में 10940/- प्रति माह और समय-समय पर स्‍वीकार्य अन्‍य भत्‍ते अर्थात विशेष मुआवजे का भत्ता, शहर प्रतिपूर्ति भत्‍ता, पारिवारिक भत्ता, घर किराया भत्ता, महंगाई भत्ता, ग्रेड भत्ता आदि आदि दिया जाएगा। वर्तमान में सहायकों के लिए आरंभिक मासिक सकल परिलब्धियां लगभग 22,339/- हैं।

(ii) अतिरिक्‍त सुविधाएं:

उपलब्‍धता के आधार पर बैंक का आवास, पात्रता के अनुसार घोषणा आधार पर चिकित्सा प्रतिपूर्ति, शिक्षा व्यय की प्रतिपूर्ति, चश्मे की लागत, पुस्‍तक अनुदान, न्यूज़ पेपर बिल, आवास सज्‍जा, जीएसएलआई की प्रतिपूर्ति, कार बीमा, वाहन भत्ता, छुट्टी किराया रियायत आदि की प्रतिपूर्ति।

भर्ती कर लिए गए उम्‍मीदवारों को ग्रेच्‍युटी के अलावा निश्चित अभिदान वाली नवीन पेंशन स्‍कीम के तहत रखा जाएगा।

7. आवेदन कैसे करें:

विस्‍तृत दिशानिर्देश/ प्रक्रिया

क. आवेदन रजिस्‍ट्रेशन हेतु

ख. शुल्‍क के भुगतान हेतु

उम्मीदवार 10 अक्‍तूबर 2017 से 31 अक्‍तूबर 2017 तक केवल ऑनलाइन ही आवेदन कर सकेंगें तथा आवेदन का कोई अन्य माध्यम स्वीकार्य नहीं होगा।

रजिस्‍ट्रेशन से पहले ध्‍यान देने योग्‍य महत्‍वपूर्ण बिंदु

उम्मीदवार, ऑनलाइन आवेदन से पहले-

i. अपने फोटोग्राफ तथा हस्ताक्षर को यह सुनिश्चित करते हुए स्कैन कर लें कि वे इस विज्ञापन के अनुबंध V में अपेक्षित विनिर्देशों के अनुसार हैं।

ii. उम्मीदवार को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि फोटो के स्थान पर फोटो और हस्ताक्षर के स्थान पर हस्ताक्षर अपलोड किया गया है। यदि हस्ताक्षर के स्थान पर हस्ताक्षर और फोटो के स्थान पर फोटो ठीक से अपलोड नहीं की गई है तो उम्मीदवार को परीक्षा के लिए आवेदन करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

iii. उनके पास एक वैध व्यक्तिगत ई-मेल आईडी और मोबाइल नम्‍बर होना चाहिए, जिसे इस भर्ती प्रक्रिया के परिणामों की घोषणा तक सक्रिय रखा जाना चाहिए। भारतीय रिज़र्व बैंक कॉल लेटर डाउनलोड करने आदि की सूचना ई-मेल के माध्यम से भेजेगा। किसी भी परिस्थिति में उम्मीदवार अपनी ई-मेल आईडी किसी दूसरे के साथ शेयर ना करें/ किसी दूसरे व्यक्ति की ई-मेल आई डी का उल्लेख ना करें। यदि किसी उम्मीदवार के पास वैध व्‍यक्तिगत ई-मेल आईडी नहीं हो, तो उसे चाहिए कि ऑन-लाइन आवेदन करने से पहले अपना नया ई-मेल आईडी बनाए तथा उस ई-मेल एकाउन्‍ट और मोबाइल नम्‍बर को बरकरार रखें।

iv. आवेदन शुल्क/सूचना प्रभार (यह शुल्‍क/प्रभार लौटाया नहीं जाएगा) 17 नवम्बर 2017 से 7 दिसम्बर 2017 तक भुगतान (ऑन लाइन भुगतान) किया जा सकेगा जो निम्‍नानुसार होगा :

50 – अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/निःशक्त व्‍यक्ति/ भूतपूर्व सैनिकों के लिए (सूचना प्रभार)

450 – अन्‍य पिछड़ा वर्ग / सामान्‍य वर्ग के उम्‍मीदवारों के लिए (परीक्षा शुल्‍क तथा सूचना प्रभारों को जोड़ कर) स्‍टाफ उम्‍मीदवारों को परीक्षा शुल्‍क तथा सूचना प्रभारों के भुगतान की छूट है।

आवेदन शुल्‍क/सूचना प्रभारों के ऑनलाइन भुगतान के लिए बैंक द्वारा लिए जाने वाले लेनदेन प्रभारों का वहन उम्‍मीदवारों को ही करना होगा।

क. आवेदन का तरीका :

1. उम्मीदवार पहले भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट www.rbi.org.in पर जाएं तथा "Recruitment for the post of Office Attendant" विकल्प पर क्लिक करें जिससे एक नया स्क्रीन खुल जाएगा।

2. अपने आवेदन को रजिस्‍टर करने के लिए उम्‍मीदवार “Click here for New Registration” टैब पर क्लिक करें और अपना नाम, संपर्क हेतु जानकारी तथा ई-मेल आईडी भरें। इसके बाद सिस्‍टम द्वारा प्रोविजनल रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर और पासवर्ड तैयार करके स्‍क्रीन पर दिखाया जाएगा। उम्‍मीदवार इस प्रोविजनल नम्‍बर और पासवर्ड को नोट करें। प्रोविजनल नम्‍बर और पासवर्ड की जानकारी देते हुए ईमेल और मोबाइल पर एक एसएमएस भी भेजा जाएगा।

3. यदि उम्‍मीदवार अपना आवेदन एक बार में पूरा नहीं भर पा रहे हों तो वे पहले से भरे हुए डाटा को “SAVE AND NEXT” टैब पर क्लिक करते हुए सेव कर सकते हैं। उम्‍मीदवारों को सूचित किया जाता है कि ऑनलाइन आवेदन को प्रस्‍तुत करने के पहले ऑनलाइन आवेदन में अपने ब्‍योरों की जांच करने के लिए “SAVE AND NEXT” सुविधा का उपयोग करें और यदि आवश्‍यक हो तो उन्‍हें संशोधित करें। दृष्टिबाधित उम्मीदवार आवेदन फार्म को सावधानी पूर्वक भरें और आवेदन प्रस्‍तुत करने के पहले ब्‍योरों को सत्‍यापित करें/सत्‍यापित करवाएं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ब्‍योरे सही हैं।

4. उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे स्वयं ऑनलाइन आवेदन में ब्योरे भरें और जाँच करें क्योंकि FINAL SUBMIT BUTTON क्लिक करने के बाद कोई परिवर्तन संभव/विचारणीय नहीं होगा।

5. आवेदन में उम्मीदवार का या उसके पिता/पति का नाम इत्यादि सही प्रकार से भरा गया हो जैसा कि प्रमाणपत्र/मार्कशीट/पहचान प्रमाण में दिया गया है। इनमें किसी प्रकार का अंतर उम्मीदवारी निरस्त कर सकता है।

6. ‘Validate your details’ और ‘Save & Next’ बटन से अपने ब्योरे सत्यापित करें और आवेदन सेव कर लें।

7. उम्मीदवार को फोटोग्राफ तथा हस्ताक्षर के लिए दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार अपना फोटोग्राफ तथा हस्ताक्षर स्कैन करके अपलोड करना होगा।

8. उम्मीदवार आवेदन फार्म के अन्य ब्योरे भरने के लिए आगे बढ़ सकते हैं।

9. FINAL SUBMIT से पहले Preview टैब क्लिक कर पूरे आवेदन का प्रीव्यू देखें और जाँचें।

10. यदि आवश्यक हो तो जानकारी सुधार लें और यह जाँचने और सुनिश्चित करने के बाद ही “FINAL SUBMIT’’ पर क्लिक करें कि आपके द्वारा अपलोड किया गया फोटो, हस्ताक्षर तथा भरी गई अन्य जानकारी सही है।

11. ‘Payment’ टैब पर क्लिक करें और भुगतान करें।

12. ‘Submit’ बटन पर क्लिक करें।

ख. शुल्क का भुगतान

ऑनलाइन माध्यम

1. आवेदन-फार्म पेमेंट गेटवे के साथ जोड़ा हुआ है और निम्नलिखित निर्देशों का पालन करते हुए भुगतान प्रक्रिया पूरी की जा सकती है।

2. आवेदन शुल्क / सूचना शुल्क के ऑनलाइन भुगतान के लिए बैंक के लेनदेन प्रभार का वहन उम्मीदवार द्वारा किया जाना आवश्‍यक हैं।

3. डेबिट कार्ड (रूपे/ वीजा/मास्‍टर कार्ड /मेस्ट्रो), क्रेडिट कार्ड, इन्‍टरनेट बैंकिंग, आईएमपीएस, कैश कार्ड/मोबाइल वैलेट के माध्‍यम से भुगतान किया जा सकेगा।

4. ऑनलाइन आवेदन फार्म में अपने भुगतान की जानकारी सबमिट करने के बाद, कृपया सर्वर से सूचना की प्रतीक्षा करें। कृपया दोहरे भुगतान से बचने के लिए बैक अथवा रीफ्रैश बटन न दबाएं।

5. लेनदेन सफलतापूर्वक पूरा हो जाने पर एक ई-रसीद तैयार हो जाएगी।

6. ‘ई-रसीद न तैयार होने का मतलब है कि भुगतान असफल रहा। असफल भुगतान पर उम्मीदवारों को सलाह है कि वे अपने अनंतिम रजिस्ट्रेशन नंबर तथा पासवर्ड से फिर लॉगिन करें और भुगतान की प्रक्रिया दुहराएं।

7. उम्‍मीदवारों से अपेक्षा है कि वे फीस के विवरण को दिखाने वाली इस ई-रसीद और ऑनलाइन आवेदन फॉर्म का प्रिन्‍ट निकाल लें। कृपया ध्‍यान रखें कि यदि यह जेनरेट नहीं हो रहा है तो हो सकता है कि आपका ऑनलाइन भुगतान सफलतापूर्वक पूरा नहीं हुआ है।

8. क्रेडिट कार्ड प्रयोग करने वालों के लिए : सभी कीमतें भारतीय रुपए में अंकित हैं। यदि आप विदेशी क्रेडिट कार्ड का प्रयोग कर रहें हैं तो आपका बैंक विद्यमान विनिमय दर के अनुसार स्थानीय मुद्रा में परिवर्तन कर देगा।

9. आपके डेटा की सुरक्षा सुनिश्चित करने लिए कृपया प्रक्रिया पूरी हो जाने पर अपने ब्राउसर-विंडों को बंद कर दें।

10. शुल्क के भुगतान के बाद शुल्क के विवरण सहित आवेदन फार्म का प्रिंट लेने की सुविधा उपलब्ध है।

उम्मीदवारों को सलाह है कि वे ऑनलाइन आवेदन स्वयं भरें। FINAL SUBMIT BUTTON क्लिक करने के बाद कोई परिवर्तन संभव नहीं है। उम्‍मीदवार यह नोट करे कि ऑनलाइन आवेदन में भरा गया नाम परीक्षा के समय सत्यापन हेतु दिखाए गए फोटो पहचान प्रमाण में दिए गए नाम से पूर्णत: मेल खाना चाहिए। वे महिला उम्‍मीदवार जिन्‍होंने शादी के बाद अपना पहला / अंतिम / मध्‍य का नाम बदल दिया है वे इसका विशेष ध्‍यान रखें। दृष्टिबाधित उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन में भरी गई जानकारी की जाँच करने/करवाने केलिए उत्तरदायी होंगे और FINAL SUBMIT से पहले यह सुनिश्चित करने के लिए भी की जानकारी सही है क्योंकि FINAL SUBMIT के बाद कोई परिवर्तन संभव नहीं है।

कृपया नोट करें कि ऑनलाइन आवेदन में भरी गई सारी जानकारी जिसमें उम्मीदवार का नाम, वर्ग, जन्मतिथि, पता, मोबाइल नंबर, ई-मेलआईडी, परीक्षा केन्द्र इत्यादि सम्मिलित हैं, अंतिम मानी जाएगी और आवेदन फार्म का ऑनलाइन सबमिशन कर देने के बाद इसमें कोई परिवर्तन स्वीकार्य नहीं होगा। अत: उम्मीदवारों से अनुरोध है कि ऑनलाइन आवेदन अत्यंत सावधानी पूर्वक भरें क्योंकि विवरणों में परिवर्तन के लिए किसी प्रकार के पत्राचार पर विचार नहीं किया जाएगा। आवेदन फार्म में गलत और अपूर्ण विवरण दिए जाने या आवेदन फॉर्म में अपेक्षित विवरण छूट जाने के परिणाम स्‍वरूप उत्पन्न स्थितियों के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक उत्तरदायी नहीं होगा।

ऑनलाइन आवेदन, जो किसी भी रूप में अधूरा हो, मान्य नहीं होगा, जैसे ऑनलाइन आवेदन फार्म के साथ फोटोग्राफ तथा हस्ताक्षर अपलोड नहीं किया गया हो।

उम्मीदवारों को उनके अपने हित में सलाह दी जाती है कि अंतिम तारीखसे काफी पहले वे ऑनलाइन आवेदन करें और शुल्क जमा करने के लिए अंतिम तारीख की प्रतीक्षा न करें, ताकि इंटरनेट पर भारी लोड/वेबसाइट जाम के कारण भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट पर लॉग ऑन करने में डिस्कनैक्ट/अक्षम/असफल होने की संभावना से बच सकें।

उक्त किसी भी कारण से अथवा भारतीय रिज़र्व बैंक के नियंत्रण सेबाहर किसी भी कारण से उम्मीदवारों द्वारा अंतिम तारीख के भीतर उनके आवेदन नहीं प्रस्‍तुतकर पाने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।

कृपया नोट करें की उक्त प्रक्रिया ही आवेदन करने की वैध प्रक्रिया है। किसी भी अन्य माध्यम से आवेदन अथवा अधूरी प्रक्रिया स्वीकार नहीं की जाएगी।

आवेदन में भरी गई कोई भी सूचना/विवरण उम्मीदवार के लिए व्यक्तिगत रूप से बाध्‍यकारी होगी, तथा यदि बाद में पाया जाता है कि उसके द्वारा दी गई जानकारी/विवरण असत्‍य है तो वह न्यायिक कार्रवाई/सिविल कार्रवाई का भागी होगा/होगी।

8. सामान्‍य नियम/ अनुदेश:

i) उम्‍मीदवार केवल एक कार्यालय में रिक्तियों के लिए आवेदन कर सकते हैं और उन्‍हें उस राज्‍य-विशेष में स्थि‍त किसी केंद्र से ही ऑनलाइन परीक्षा देनी होगी। उदाहराणार्थ - अहमदाबाद केन्‍द्र के लिए आवेदन करनेवाला उम्‍मीदवार केवल गुजरात से परीक्षा दे सकता है।

ii) ऑनलाइन आवेदन करते समय उम्मीदवारों को किसी भी पते पर अपने आवेदन का प्रिन्ट या कोई प्रमाणपत्र या इनकी प्रतिलिपियां भेजने की जरूरत नहीं है। आवेदन में दी गई जानकारी के आधार पर ही आपकी उम्‍मीदवारी पर विचार किया जाएगा। यदि किसी भी स्‍तर पर यह पाया जाता है कि ऑनलाइन आवेदन में दी गई जानकारी असत्‍य/गलत है या रिज़र्वबैंक के अनुसार उम्‍मीदवार पात्रता के मानदंडों को पूरा नहीं करता/करती है तो उसकी उम्‍मीदवारी/नियुक्ति को रद्द/समाप्‍त कर दिया जाएगा।

iii) सभी शैक्षणिक योग्‍यताएं भारत या विदेश के मान्‍यता प्राप्‍त विश्‍वविद्यालयों/संस्‍थानों से प्राप्‍त होनी चाहिए। यदि अंकों के स्‍थान पर ग्रेड दिए गए हैं तो उम्‍मीदवारों को चाहिए कि वे ग्रेड का अंकीय समकक्ष स्‍पष्‍ट रूप से बताएं।

iv) उम्मीदवार को अपने द्वारा आवेदन किए जाने वाले पद स्‍वयं की पात्रता के बारे में स्वयं को संतुष्ट करना चाहिए। पात्रता के संबंध में सभी मामलों में, परीक्षा का संचालन, ऑनलाइन परीक्षा में न्यूनतम योग्यता मानकों का निर्धारण, रिक्त पदों की संख्या और परिणामों के प्रकाशन के संबंध में, बैंक का निर्णय अंतिम होगा और उम्मीदवारों पर बाध्यकारी होगा और इस संबंध में कोई भी पत्राचार नहीं किया जाएगा।

v) आवेदन के लिए पात्रता के बारे में सलाह देने के लिए उम्‍मीदवारों के किसी भी अनुरोध पर रिज़र्व बैंक विचार नहीं करेगा।

vi) सरकारी / अर्ध-सरकारी संगठनों और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों / उपक्रमों में पहले से ही सेवारत उम्मीदवारों को एलपीटी के समय अपने नियोक्ता से "अनापत्ति प्रमाण पत्र" लाना होगा। तथापि, आरबीआई में नियुक्ति से पहले, नियोक्ता से उचित निर्वहन प्रमाण पत्र प्रस्‍तुत करना होगा।

vii) उम्‍मीदवारों को ऑनलाइन परीक्षा के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट से कॉल-लैटर डाउनलोड करने होंगे। कॉल लैटर डाउनलोड करने की सूचना ईमेल / एसएमएस से दी जाएगी। उम्‍मीदवार द्वारा जैसे ही संबंधित लिंक पर क्लिक किया जाएगा, तो कॉल लैटर डाउनलोड करने के लिए विन्‍डो खुल जाएगी। उम्‍मीदवार से अपेक्षित है कि कॉल लैटर डाउनलोड करने के लिए (1) रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर/रोल लम्‍बर (2) पासवर्ड/जन्‍म तारीख का उपयोग करें। उम्‍मीदवार को कॉल लैटर पर अपना नवीनतम फोटोग्राफ चिपकाना होगा। अधिमानत: जैसा कि रजिस्‍ट्रेशन के समय दिया गया था और परीक्षा केन्‍द्र पर (1) कॉल लैटर (2) फोटो पहचान प्रमाणजैसा कि नीचे (xiv भुगतान) में निर्दिष्‍ट किया गया है और कॉल लैटर में भी निर्दिष्‍ट किया गया है, और मूल रूप से लाए गए फोटो पहचान प्रमाण की फोटोकॉपी भी लाएं।

viii) परीक्षा में बैठने के लिए उम्‍मीदवारों को अपने खर्च पर आना होगा।

ix) परीक्षा में देर से आने वाले उम्‍मीदवार अर्थात कॉल लैटर में निर्दिष्‍ट समय के बाद रिपोर्ट करने वाले उम्‍मीदवार को परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा। कॉल लैटर में उल्लिखित रिपोर्ट समय परीक्षा से पहले है। यद्यपि परीक्षा की अवधि 1.5 घंटे की है, फिर भी उम्‍मीदवार को विभिन्‍न औपचारिकताओं को पूरा करने जैसे सत्यापन और विभिन्‍न अपेक्षित दस्‍तावेजों को संकलित करने, लॉग इन, अनुदेशों को बताने जैसे कार्य किए जाएंगे जिसमें लगभग 2 से 3 घंटे का समय लग सकता है।

x) एलपीटी के लिए बुलाए गए उम्‍मीदवारों को एलपीटी के समय आयु/योग्‍यता/वर्ग आदि से संबंधित दस्‍तावेज प्रस्‍तुत करने होंगे। जो उम्‍मीदवार अजा/अजजा/अपिव के तौर पर आरक्षण चाहते हैं उन्‍हें निर्धारित प्रोफार्मे में सक्षम प्राधिकारी से प्राप्‍त प्रमाणपत्र प्रस्‍तुत करना होगा, जिसमे स्‍पष्‍ट रूप से उम्‍मीदवार की जाति, अधिनियम/आदेश जिसके तहत उम्‍मीदवार की जाति को अजा/अजजा/अपिव के तौर पर मान्‍यता दी गई है और गाँव /कस्‍बा जहाँ उम्‍मीदवार सामान्य रूप से रहता है, का उल्‍लेख होना चाहिए।

xi) आयु में रियायत चाहने वाले उम्‍मीदवारों को एलपीटी के समय आवश्‍यक प्रमाणपत्र(त्रों) की प्रतिलिपियाँ प्रस्‍तुत करनी होंगी।

xii) अपिव के तौर पर आरक्षण चाहने वाले उम्‍मीदवार को निर्धारित प्रपत्र में घोषणा करनी होगी कि वह एलपीटी की तारीख तक क्रीमी लेयर से संबद्ध नहीं है। अपिव प्रमाणपत्र, जिसमें नॉन-क्रीमी वाक्‍यांश भी निहित हो, 01.10.2017 के बाद जारी किया होना चाहिए।

xiii) सरकारी क्षेत्र, सरकारी स्वामित्व वाले औद्योगिक उपक्रमों, सरकारी उपक्रमों/वित्तीय संस्थाओं/बैंकों, लोकउद्यम या ऐसे अन्य संगठनों में स्थायी या अस्थाई क्षमता में या कैजुयल अथवा दैनिक आधार पर कर्मचारी से अलग कार्य-प्रभारित कर्मचारी के रूप में काम कर रहे सभी उम्मीदवार बैंक को अपना ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत करने से पहले अपने नियोक्ता (कार्यालय/विभागप्रमुख) को भर्ती के लिए आवेदन के बारे में लिखित में सूचित करें । ऐसे संगठनों में काम कर रहे उम्मीदवारों से अपेक्षित है कि ऑनलाइन आवेदन करते समय वे यह वचन पत्र प्रस्तुत करें कि उन्होंने इस भर्ती के लिए आवेदन करने के बारे में अपने कार्यालय / विभाग प्रमुख को लिखित में सूचित किया है । उम्मीदवार यह ध्यान दें कि यदि उनके नियोक्ता से बैंक को यह सूचना प्राप्त होती है कि उम्मीदवार को भर्ती के लिए आवेदन/परीक्षा/साक्षात्कार में प्रवेश के लिए अनुमति रोकी जाती है तो उनका आवेदन / उम्मीदवारी अस्वीकार / रद्द किए जाने के अधीन है । कार्यग्रहण के समय चयनित उम्मीदवारों को अपने पीएसयू / सरकारी / अर्ध-सरकारी नियोक्ता से सेवामुक्ति का उचित प्रमाण-पत्र लाना होगा।

xiv) परीक्षा केन्‍द्र तथा एलपीटी के समय सत्‍यापन के लिए कॉल लैटर के साथ उम्‍मीदवार की वर्तमान में वैध फोटो पहचान की प्रतिलिपि जैसे फोटोग्राफ सहित आधारकार्ड / तस्वीर के साथ ई-आधार कार्ड / पैन कार्ड / पासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेन्‍स / वोटर कार्ड / फोटोग्राफ सहित बैंक की पासबुक / राजपत्रित अधिकारीद्वारा कार्यालयीन पत्रशीर्ष पर जारी फोटो पहचान प्रमाण / जनप्रतिनिधि द्वारा कार्यालयीन पत्रशीर्षपर जारी फोटोप्रमाण / मान्‍यता प्राप्‍त महाविद्यालय / विश्‍व विद्यालय द्वारा जारी वैध वर्तमान पहचानपत्र / कर्मचारीआईडी / फोटोग्राफ सहित बार काउन्सिल का पहचानपत्र जांचकर्ता को दी जानी चाहिए। उम्‍मीदवार की पहचानका सत्‍यपान कॉल-लैटर में दिए गए उसके विवरण, उपस्थिति सूची में और उसकेद्वारा प्रस्‍तुत दस्‍तावेजों के साथ किया जाएगा। यदि उम्‍मीदवार की पहचान के बारेमें संदेह हुआ तो उसे परीक्षा देने की अनुमति नहीं दी जाएगी। राशन कार्ड पहचान प्रमाण के रूप में मान्य नहीं होगा।

राशन कार्ड और शिक्षार्थी ड्राइविंग लाइसेंस वैध पहचान प्रमाण पत्र के रूप में नहीं माना जाएगा।

नोट: उम्‍मीदवारों को फोटो पहचान प्रमाण की मूल प्रति प्रस्‍तुत करनी होगी और ऑनलाइन परीक्षा और एलपीटी के समय परीक्षा कॉल लैटर/ एलपीटी कॉल लैटर के साथ फोटो पहचान प्रमाण की प्रतिलिपि प्रस्‍तुत करनी होगी, ऐसा नहीं करने पर उम्‍मीदवार को परीक्षा/ एलपीटी देने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उम्‍मीदवार यह नोट करे कि कॉल लैटर (रजिस्‍ट्रेशन के दौरान दिया गया) में दिया गया नाम फोटो पहचान प्रमाण में दिए गए गए नाम से पूर्णत: मेल खाना चाहिए। वे महिला उम्‍मीदवार जिन्‍होंने शादी के बाद अपना पहला/अंतिम/मध्‍य का नाम बदल दिया है वे इसका विशेष ध्‍यान रखें। यदि कॉल लैटर और फोटो पहचान प्रमाण में दिया गया नाम बेमेल हैं तो उम्‍मीदवार को परीक्षा देने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

xv) उम्‍मीदवारों को उनके हित में सूचित किया जाता है कि वे ऐसा कोई विवरण नहीं दें जो मिथ्‍या हो, जिसे विकृत किया गया हो या मनगढंत हो और ऑनलाइन आवेदन करते समय कोई जानकारी छिपाई नहीं जाए।

परीक्षा, एलपीटी के समय या इसके बाद की चयन प्रक्रिया के दौरान, यदि उम्‍मीदवार को निम्‍नानुसार दोषी पाया जाता है (या पाया गया है)–

(a) अनुचित तरीकों का प्रयोग करने या

(b) किसी दूसरे के स्‍थान पर कोई परीक्षा देने या अपने स्‍थान पर किसी अन्‍य व्‍यक्ति को परीक्षा के लिए भेजने या

(c) परीक्षा /एलपीटी हॉल में दुर्व्यवहार करने या किसी प्रयोजन के लिए परीक्षा(ओं) की विषय-वस्‍तु या उसमें दी गई कोई भी जानकारी पूरी तरह या उसके किसी भाग को किसी भी माध्‍यम से, मौखिक या लिखित, इलेक्‍ट्रानिक या मेकैनिकल रूप से बताना, प्रकाशित करना, पुन:प्रस्‍तुत करना, प्रसारित करना, इकट्ठा करना या प्रसार करने या इकट्ठा करने में सहायता करना या

(d) चयन के लिए अपनी उम्‍मीदवारी के संबंध में किसी असंगत या अनुचित तरीके का सहारा लेने; या

(e) अपनी उम्‍मीदवारी के लिए किसी अनुचित तरीके से समर्थन लेने वाले उम्‍मीदवार; या

(f) परीक्षा /एलपीटी हॉल में मोबाइल फोन या इसी प्रकार के इले‍क्‍ट्रानिक संचार उपकरण लाने वाले उम्‍मीदवार आपराधिक कार्रवाई के अलावा निम्‍नलिखित के भागी होंगे:-

(i) वह जिस परीक्षा का/की उम्‍मीदवार है, उसके लिए अयोग्‍य हो जाएगा/जाएगी,

ii) भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा आयोजित किसी परीक्षा या भर्ती से स्‍थायी रूप से या विनिर्दिष्‍ट अवधि के लिए उसे प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

iii) यदि उम्‍मीदवार ने बैंक में पहले ही ज्‍वाइन कर लिया है तो उसकी सेवाएं समाप्‍त कर दी जाएंगी।

xvi) एलपीटी के समय उम्‍मीदवार की पहचान के लिए उम्‍मीदवार के अंगूठे की छाप का सत्‍यपान किया जा सकता है अथवा उम्मीदवार की पहचान स्थापित करने के लिए चयन प्रक्रिया में बाद में कभी भी अंगूठे की छाप का सत्‍यपान किया जा सकता है।

xvii) भारतीय रिज़र्व बैंक उम्‍मीदवारों द्वारा दिए गए उत्‍तरों को परीक्षा में बैठे अन्‍य उम्‍मीदवारों द्वारा दिए गए उत्तरों से मिलाते हुए विश्‍लेषण करेगा, ताकि गलत और सही जवाबों के एकरूपता के पैटर्न को पकड़ा जा सके। ऐसे विश्लेषण के आधार पर, यदि यह पाया जाता है कि जवाबों को शेयर किया गया है और प्राप्‍तांक असली/वैध नहीं है, तो भारतीय रिज़र्व बैंक को उसकी उम्‍मीदवारी रद्द करने का अधिकार होगा। और ऐसे उम्‍मीदवारों (अयोग्‍य ठहराए गए) के परिणाम को रोक लिया जाएगा।

xviii) किसी भी प्रकार की सिफारिश को अयोग्‍यता माना जाएगा।

xix) रिज़र्व बैंक के साथ सभी पत्राचारों में आवेदन प्रस्‍तुत करने के बाद प्राप्‍त पंजीकरण संख्‍या और ‘कॉल लैटर’ में दिए गए रोल नंबर का उल्‍लेख अवश्‍य किया जाए।

xx) पात्रता, परीक्षाओं के आयोजन, एलपीटी, आकलन, ऑनलाइन परीक्षा और एलपीटी में न्यूनतम अर्हक मानकों के निर्धारण, रिक्तियों की संख्‍या और परिणामों को सूचित करने के बारे में बैंक का निर्णय अंतिम और उम्‍मीदवारों के लिए बाध्‍यकारी होगा, और इस बारे में किसी पत्राचार पर विचार नहीं किया जाएगा।

xxi) परीक्षा के संचालन में कुछ ऐसी समस्‍याओं के होने की संभावना से पूर्णतया इनकार नहीं किया जा सकता है, जिनका प्रभाव परीक्षा के होने और /या परिणाम तैयार करने पर पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में, समस्‍या के समाधान का भरपूर प्रयासकिया जाएगा, जिसमें उम्‍मीदवारों को दूसरे केन्‍द्र पर शिफ्ट करने या यदि आवश्‍यक हुआ तो फिर से परीक्षा आयोजित करना भी शामिल होगा। इस बारे में भारतीय रिज़र्व बैंक का निर्णय अंतिम होगा। इन बदलावों को स्‍वीकार नहीं करने वाले उम्‍मीदवार इस परीक्षा के लिए अपनी उम्‍मीदवारी से वंचित हो जाएंगे।

xxii) यदि परीक्षा का आयोजन एक से अधिक सत्रों में किया जाता है तो विभिन्‍न सत्रोंके दौरान उपयोग की गई अलग-अलग टेस्‍ट बैटरियों के कठिनाई स्‍तर में मामूली अंतरों को समायोजित करने के लिए विभिन्‍न सत्रों के अंकों को समानुपातिक किया जाएगा। नोड की क्षमता कम होने या कोई तकनीकी समस्‍या होने पर किसी भी केन्‍द्र पर या किसी भी उम्‍मीदवार के लिए एक से अधिक सत्रों की अपेक्षा हो सकती है।

xxiii) जहां परीक्षा का आयोजन किया गया है उस परिसर में मोबाइल फोन, पेजर या संचार का कोई भी साधन लाने की अनुमति नहीं है। इन अनुदेशों का कोई भी उल्‍लंघन भविष्‍य में परीक्षाओं में बैठने पर प्रतिबंध सहित अयोग्‍यता का आरोपण करेगा।

xxiv) परीक्षा भवन में कैलकुलेटर का प्रयोग करने या इसे अपने पास रखने की अनुमति नहीं है।

xxv) उम्‍मीदवारों को उनके हित में सूचित किया जाता है कि वे मोबाइल फोन/पेजर सहित किसी भी प्रतिबंधित वस्‍तु को परीक्षा भवन में नहीं लाएं क्‍योंकि इनके सेफ कीपिंग की व्‍यवस्‍था नहीं रहेगी।

xxvi) रिज़र्व बैंक उम्‍मीदवारों को अंक तालिका नहीं देगा। हालांकि परीक्षा में प्राप्‍तांकों को अंतिम परिणामों की घोषणा के बाद बैंक की वेबसाइट पर देखा जा सकेगा।

xxvii) इन पदों के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (स्‍टाफ-उम्‍मीदवार) के वे कर्मचारी भी आवेदन कर सकेंगे, जो पात्रता मानदंडों को संतुष्‍ट करते हों।

xxviii) इस विज्ञापन और/अथवा इसके प्रतिउत्‍तर में किसी आवेदन की वजह से किसी मामले में कोई कानूनी कार्रवाई या कोई विवाद पैदा होता है तो किसी दावे या विवाद के संबंध में कोई भी कानूनी कार्रवाई केवल मुम्‍बई में शुरू हो सकती है और केवल मुम्‍बई में स्थित न्‍यायालयों/ट्रिब्‍युनलों/फोरमों के एकल और एकमात्र अधिकार क्षेत्र में ही वाद/मुकदमे की जांच होगी।

xxix) उम्‍मीदवार का परीक्षा/एलपीटी में प्रवेश पूर्णतया अनंतिम है। उम्‍मीदवार को कॉल लैटर भेजा गया है, केवल इस तथ्य का आशय यह नहीं है कि उसकी उम्‍मीदवारी को रिज़र्व बैंक ने पूरी तरह से स्‍वीकार कर लिया है।

Server 214
शीर्ष