दिनांक : 03/19/2015
शैक्षिक संस्‍थाओं के संकाय सदस्‍यों के लिए स्‍कॉलरशिप योजना

दिनांक : 19 मई 2015

शैक्षिक संस्‍थाओं के संकाय सदस्‍यों के लिए स्‍कॉलरशिप योजना

भारतीय रिज़र्व बैंक मौद्रिक और वित्‍तीय अर्थशास्‍त्र, बैंकिंग, वास्‍तविक क्षेत्र के मुद्दों जैसे क्षेत्रों और रिज़र्व बैंक के अन्‍य अभिरुचि क्षेत्रों में अल्‍पावधिक अनुसंधान कार्य करने हेतु भारत में स्थित यूजीसी की मान्‍यता-प्राप्‍त विश्‍वविद्यालयों/महाविद्यालयों में अर्थशास्‍त्र या वित्‍त का विषय पढ़ा रहे पूर्णकालिक संकाय सदस्‍यों से निर्धारित फार्मेट में आवेदन आमंत्रित करता है।

उद्देश्‍य :

  1. संकाय सदस्‍यों और छात्र समुदाय के बीच रिज़र्व बैंक के कार्यकलापों के बारे में जागरूकता को बढ़ाना

  2. अर्थशास्‍त्र और/या वित्‍त का विषय पढ़ा रहे संकाय सदस्‍यों को रिज़र्व बैंक के विभिन्‍न क्षेत्रों/कार्यकलापों की जानकारी प्रदान करना।

स्‍कॉलरशिपों की संख्‍या : अधिकतम पांच।

चयन प्रक्रिया :उम्‍मीदवारों को (क) अधिकतम 1000 शब्‍दों तक के अनुसंधान प्रस्‍ताव, (ख) जीवन-वृत्‍त और (ग) चयन पैनल द्वारा लिए जाने वाले साक्षात्‍कार के आधार पर शॉर्टलिस्‍ट किया जाएगा।

परियोजना की अवधि : तीन माह, जिसकी शुरुआत 01 अगस्‍त 2015 को होगी।

आवेदन की अंतिम तारीख : 25 जनू 2015

अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें visit www.rbi.org.in

“पैसे का वादा करने वाले ई-मेलों/एसएमएस/फोन कॉलों से धाखा न खाएं"


शैक्षिक संस्‍थाओं के संकाय सदस्‍यों के लिए स्‍कॉलरशिप योजना

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) द्वारा शैक्षिक संस्‍थाओं के संकाय सदस्‍यों के लिए स्‍कॉलरशिप योजना हेतु आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं। संकाय सदस्‍यों के लिए स्‍कॉलरशिप योजना का लक्ष्‍य ऐसे शास्‍त्रज्ञों को मंच पर लाना है, जो महत्‍वपूर्ण परियोजना कार्य को सफलतापूर्वक पूरा कर सकते हों और रिज़र्व बैंक के अनुसंधान जगत में अपना योगदान दे सकते हों। भारतीय रिज़र्व बैंक मौद्रिक और वित्‍तीय अर्थशास्‍त्र, बैंकिंग, वास्‍तविक क्षेत्र के मुद्दों जैसे क्षेत्रों और रिज़र्व बैंक के अन्‍य अभिरुचि क्षेत्रों में अल्‍पावधिक अनुसंधान कार्य करने हेतु भारत में स्थित यूजीसी की मान्‍यता-प्राप्‍त विश्‍वविद्यालयों/महाविद्यालयों में अर्थशास्‍त्र या वित्‍त का विषय पढ़ा रहे पूर्णकालिक संकाय सदस्‍यों से निर्धारित फार्मेट में आवेदन आमंत्रित करता है।

1. उद्देश्‍य

इस योजना के सामान्‍य उद्देश्‍य निम्‍नानुसार हैं :

  1. संकाय सदस्‍यों और छात्र समुदाय के बीच बैंक के कार्यकलापों के प्रति जागरूकता बढ़ाना, तथा

  2. अर्थशास्‍त्र और/या वित्‍त का विषय पढ़ा रहे संकाय सदस्‍यों को रिज़र्व बैंक के विभिन्‍न क्षेत्रों/कार्यकलापों की जानकारी प्रदान करना।

2. पात्रता

इस योजना के लिए पात्रता मानदंड नीचे दिए गए हैं :

  1. भारत में यूजीसी की मान्‍यता-प्राप्‍त विश्‍वविद्यालयों/महाविद्यालयों में अर्थशास्‍त्र और/या वित्‍त का विषय पढ़ा रहे पूर्णकालिक संकाय।

  2. भारतीय राष्ट्रिक

  3. आयु : 55 वर्ष से कम

3. योजना की समय-सारणी

  1. पूर्ण रूप से भरे गए आवेदन को 25 जून 2015 तक बैंक को भेजना चाहिए।

  2. 01 अगस्‍त 2015 से इस स्‍कॉलरशिप योजना का प्रारंभ होगा।

4. चयन प्रक्रिया

आवेदकों को विधिवत् भरे गए आवदेन फार्म के साथ अधिकतम 1000 शब्‍दों का अनुसंधान प्रस्‍ताव और विस्‍तृत जीवन-वृत्‍त भेजना चाहिए। उम्‍मीदवारों को अनुसंधान प्रस्‍ताव और जीवन-वृत्‍त के आधार पर शॉर्टलिस्‍ट किया जाएगा। उसके बाद शॉर्टलिस्‍ट किए गए उम्‍मीदवारों का चयन पैनल द्वारा साक्षात्‍कार लिया जाएगा। उपयुक्‍त पाए गए उम्‍मीदवारों को उस विषय पर अनुसंधान करने हेतु आमंत्रित किया जाएगा जिसका निर्णय रिज़र्व बैंक द्वारा लिया जाएगा।

पुनश्‍च :अपूर्ण आवेदन/नियत तारीख के बाद प्राप्‍त होने वाले आवेदनों पर शॉर्टलिस्टिंग की दृष्टि से विचार नहीं किया जाएगा।

5. विषय

शास्‍त्रज्ञों के लिए अनुसंधान का विषय भारतीय रिज़र्व बैंक तय करेगा।

6. आवेदन का प्रस्‍तुतीकरण

आवेदन की हार्ड कॉपी ‘निदेशक, विकास अनुसंधान समूह, आर्थिक और नीति अनुसंधान विभाग, 7वीं मंजि़ल, केंद्रीय कार्यालय भवन, भारतीय रिज़र्व बैंक, फोर्ट, मुंबई – 400 001’ को भेजी जाए। आवेदन के साथ विस्‍तृत जीवन-वृत्‍त और अनुसंधान प्रस्‍ताव भेजना चाहिए।

आवेदन का सॉफ्ट वर्शन (हार्ड कॉपी के अतिरिक्‍त) और/या इस योजना के संबंध में कोई प्रश्‍न हो तो उसे ई-मेल द्वारा भेजा जाए।

7. स्‍कॉलरशिप की संख्‍या

वर्ष 2015 के लिए अधिकतम पांच स्‍कॉलरशिपों पर विचार किया जाएगा। रिज़र्व बैंक किसी भी वर्ष के लिए स्‍कॉलरशिपों की संख्‍या में अपने विवेकानुसार परिवर्तन कर सकता है।

8. परियोजना की अवधि

परियोजना की अवधि अधिकतम तीन माह की होगी।

9. योजना स्‍थल

यह योजना मुख्‍यत: भारतीय रिज़र्व बैंक, मुंबई के केंद्रीय कार्यालय विभागों में परिचालित होगी। कतिपय मामलों में रिज़र्व बैंक च‍यनित उम्‍मीदवार को भारतीय रिज़र्व बैंक के चुनिंदा क्षेत्रीय कार्यालयों में अनुसंधान कार्य करने के लिए कह सकता है। तथापि, बैंक उम्‍मीदवारों को अपनी संस्‍था में कार्य करते हुए 2 से 3 माह की अवधि के दौरान अध्‍ययन करने का विकल्‍प प्रदान कर सकता है।

10. सुविधाएं

चयनित शास्‍त्रज्ञ को उपलब्‍ध कराई जाने वाली प्रमुख सुविधाओं में निम्‍नलिखित शामिल हैं :

  1. भारत में निवास/कार्य स्‍थल से भारतीय रिज़र्व बैंक के केंद्रीय कार्यालय, मुंबई में किए जाने वाले दौरों के लिए सीमित इकोनॉमी क्लास का डोमेस्टिक हवाई किराया।

  2. परियोजना की अवधि (तीन माह से अधिक न हो) के दौरान 25,000/- (पच्‍चीस हजार रुपए मात्र) का मासिक भत्‍ता।

  3. मासिक पारिश्रमिक के अलावा, परियोजना/अनुसंधान पत्र की समाप्ति पर और उसे भारतीय रिज़र्व बैंक स्‍वीकार किए जाने की स्थिति में 1 लाख का भुगतान किया जाएगा।

नोट : स्‍कॉलरशिप की अवधि के दौरान आवास की व्‍यवस्‍था या आवास भत्‍ता प्रदान नहीं किया जाएगा।

11. जिम्‍मेदारी

चयनित शास्‍त्रज्ञ की निम्‍नलिखित जि़म्‍मेदारियां होंगी :

  1. शास्‍त्रज्ञ से अपेक्षित है कि वे भारतीय रिज़र्व बैंक के अनुसंधानपरक कार्यकलापों में योगदान दे सकने वाले अनुसंधान पत्र/परियोजना रिपोर्ट प्रस्‍तुत करें।

  2. शास्‍त्रज्ञ को रिज़र्व बैंक, मुंबई में आयोजित होने वाले सेमिनार में अपने कार्य की प्रस्‍तुति देनी होगी।

  3. यदि शास्‍त्रज्ञ अपने अनुसंधान कार्य को अन्‍यत्र प्रकाशित करना चाहें तो वे रिज़र्व बैंक की पूर्वानुमति लेकर ऐसा कर सकते/सकती हैं।

Server 214
शीर्ष